The Rau Academy

+91-8126274459,
+91-9897463164

Note

12th Class के बाद छात्रों का भविष्य कैसे बनाये ?

आप सभी को पता है कि वर्तमान दौर प्रतियोगी (Competitive) है इस दौर मे छात्रों का भविष्य पूर्णरूप से प्रतियोगिता प्रधान होता है , जबकि सरकारी नौकरी के लिए होने वाले Competitive exams के बारे मे छात्रों को स्नातक (Graduation) के बाद ही पता चलता है |(Guardian) और छात्र यह सोचते है कि आगे क्या करना है । सरकारी नौकरी के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी के लिए निश्चित रुप से एक से दो वर्ष का समय लगता है। इस प्रकार यह तो सच है कि स्नातक के तीन वर्ष पुरी तरह से दिशाहीन तथा व्यर्थ है जाते है। यदि छात्र स्नातक के साथ-साथ अपने घर पर रहकर Coaching Classes लेकर सरकारी नौकरी की तैयारी करता है तो भी उसकी सफलता संदिग्ध रहती है। कभी वह छात्र Physical Test मे पास नही हो पाता तो कभी Exam व interview Qualify नही कर पाता है । यह भी सच है कि 12 वीं कक्षा के बाद अभिभावक व छात्रों को नही पता होता कि छात्र स्नातक के साथ- साथ किन सरकारी नौकरियों के लिए Apply कर सकता है तथा किस दिशा में उचित तैयारी करें। छात्रों को घर पर रहकर उचित मार्गदर्शन नही मिल पाता जवकि यह मार्गदर्शन Full Targetted तथा Intergated होना चाहिए। अब Question उठता है कि इन समस्याओं का समाधान क्या हो ?

इन सभी समस्याओं का समाधान करने के लिए THE RAU ACADEMY नामक संस्था की नींव डाली गई है।

इस संस्था में 12वीं कक्षा के बाद छात्रों को प्रवेश दिया जायेगा। प्रवेश 12वीं कक्षा में प्राप्त प्रतिशत और साक्षात्कार (Interview) के आधार पर होगा।

संस्था में सिर्फ 100 छात्रो को प्रवेश दिया जायेगा। संस्था में इन्ही 100 छात्रों को स्ऩातक के साथ – साथ प्रतिष्ठित सरकारी नौकरी के लिए Competitive exams की तैयारी भी करायी जायेगी। संस्था सर्वप्रथम N.D.A, Airforce (X.Y) group व S.S.C की तैयारी लेकर चलती है। यदि इनमें छात्र पास नही हो पाता है तो उसके बाद संस्था S.S.C के आगे की परीक्षा और IBPS जैसी परीक्षा पास कराती है।

इस संस्था के छात्र को Competitive exams के साथ-साथ typing, speaking, S.S.B interview की भी तैयारी करायी जायेगी। जिससे की छात्र पूर्ण रुप से सक्षम होकर संस्थान से निकले।

संस्थान में पढने वाले उन 100 छात्रों का सरकारी क्षेत्र में कामयाब होना तो तय हो ही जाता है, परन्तु यदि कोई छात्र किसी कारणवश पास नही हो पाता है तो संस्थान में पढने वाला छात्र अपने आप में इतना सक्षम हो जाता है कि उसे संस्थान अच्छी प्राईवेट जाँब की और मोड़कर कही पर भी सैटल कर देता है।